Deprecated: Hook custom_css_loaded is deprecated since version jetpack-13.5! Use WordPress Custom CSS instead. Jetpack no longer supports Custom CSS. Read the WordPress.org documentation to learn how to apply custom styles to your site: https://wordpress.org/documentation/article/styles-overview/#applying-custom-css in /home/qesbwhll/domains/bindassnews.com/public_html/wp-includes/functions.php on line 6078

Deprecated: Function is_staging_site is deprecated since version 3.3.0! Use in_safe_mode instead. in /home/qesbwhll/domains/bindassnews.com/public_html/wp-includes/functions.php on line 6078
2024 का दूसरा सूर्य ग्रहण: तिथि, समय, और महत्वपूर्ण जानकारी | Surya Grahan 2024 |surya grahan kab hai - Bindass News
Deprecated: Function is_staging_site is deprecated since version 3.3.0! Use in_safe_mode instead. in /home/qesbwhll/domains/bindassnews.com/public_html/wp-includes/functions.php on line 6078
Surya Grahan 2024,सूर्य ग्रहण

2024 का दूसरा सूर्य ग्रहण: तिथि, समय, और महत्वपूर्ण जानकारी | Surya Grahan 2024 |surya grahan kab hai

Surya Grahan 2024 | सूर्य ग्रहण 2024:

हिंदू धर्म में चंद्र और सूर्य ग्रहण का धार्मिक महत्व है। धार्मिक दृष्टि से ग्रहण काल ​​शुभ नहीं होता है। इस दौरान कई ऐसे कार्य वर्जित होते हैं। 8 अप्रैल 2024 को साल 2024 का पहला सूर्य ग्रहण लगा. फिर भी भारत पहला सूर्य ग्रहण नहीं देख पाया. कृपया हमें बताएं कि इस वर्ष का दूसरा सूर्य ग्रहण कब लगने वाला है।

2nd Surya Garhan | 2024 का दूसरा सूर्य ग्रहण कब होगा?

आपको बता दें कि 2 अक्टूबर 2024 को साल का दूसरा सूर्य ग्रहण लगेगा. ग्रहण काफी समय तक रहेगा। 3 अक्टूबर को रात 9:13 बजे से सूर्य ग्रहण लगेगा. प्रातः 3:17 बजे तक दूसरा सूर्य ग्रहण लगभग छह घंटे तक घटित होगा।

Surya Grahan कहाँ देख सकता हूँ?

इसी तरह भारत साल का दूसरा सूर्य ग्रहण नहीं देख पाएगा। 2 अक्टूबर 2024 को अमेरिका, अर्जेंटीना, अंटार्कटिका, उरुग्वे, होनोलूलू, ब्यूनस आयर्स, आर्कटिक, प्रशांत महासागर, पेरी, चिली और द्वीप के उत्तरी हिस्से में दूसरा ग्रहण देखा जा सकेगा।

2024 Surya Grahan सूतक समय सीमा:-

2 अक्टूबर 2024 में दूसरे सूर्य ग्रहण का दिन है। हालांकि, भारत में यह सूर्य ग्रहण नहीं देखा जा सकेगा। परिणामस्वरूप सूतक काल भी मान्य नहीं होगा। गौरतलब है कि सूर्य ग्रहण से बारह घंटे पहले ही सूतक काल शुरू हो जाता है. सूतक काल के दौरान मंदिर के दरवाजे बंद कर दिए जाते हैं। सूतक काल के दौरान पूजा-पाठ और अन्य शुभ धार्मिक अनुष्ठान वर्जित होते हैं। जो महिलाएं गर्भवती हैं उन्हें ग्रहण के दौरान अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत है। ऐसा दावा किया जाता है कि पूरे सूतक काल में भगवान के मंत्रों का जाप उनके नाम से करना चाहिए। मंत्र जाप से ग्रहण के नकारात्मक प्रभाव कम हो जाते हैं।

Also Read:Is Apple Card Worth It? | Apple Card review |Apple Card Pre Approval | Daily cash back and no fees |

IBM Pension Plan |Revolutionizing Retirement: IBM’s Innovative Approach and Its Implications for Corporate Benefits| IBM news |


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from Bindass News

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading

Exit mobile version