HEALTHY EATING TIPS

HEALTHY EATING TIPS

 

  • Eat the right amount of calories for how active you are. If you eat or drink much, you’ll put on weight. If you eat and drink little, you’ll lose weight.

EAT HEALTHY BE HEALTHY.

 

  • Eat a wide range of foods to ensure that you’re getting a balanced diet.

 

Milk

 

With hydrating water, muscle-healing protein, refueling sugar calcium in every glass, milk is great for those upping their activity levels

 

Power up with protein

Protein is essential for building and repairing muscle. Choose lean or low-fat cuts of beef or pork.

EAT HEALTHY BE HEALTHY.

 

Get your protein from seafood twice a week. Quality protein sources come from plant based foods, too.


Mix it up with plant protein foods

Choose beans and peas (kidney, pinto, black, or white beans; split peas; chickpeas; hummus), soy products (tofu, tempeh,) and unsalted nuts and seeds.

 

Don’t forget dairy

Foods like fat-free and low-fat milk, cheese, yogurt, and fortified soy beverages to build and maintain strong bones needed for everyday activities.

 

Balance your meals

Use My Plate as a reminder to include all food groups each day.

 

 

EAT HEALTHY BE HEALTHY.

 

 

Drink water

Stay hydrated by drinking water instead of sugary drinks. Keep a reusable water bottle with you to always have water on hand.

 

Fitness benefits:

Sweet potatoes are a good addition to a carb-loading diet before a long race, such as a half marathon. EAT HEALTHY BE HEALTHY.

They are also high in the electrolyte potassium, which can help ward off muscle cramping during exercise.

 

Sugar in our diet

Regularly consuming foods and drinks high in sugar increases your risk of obesity and tooth decay.

 

Don’t get thirsty

We need to drink plenty of fluids to stop us getting dehydrated – the government recommends 6-8 glasses every day.

 

स्वास्थ्य सम्बन्धी और सलाहें 

कहीं भी बाहर से घर आने के बाद, किसी बाहरी वस्तु को हाथ लगाने के बाद, खाने से पहले, खाने के बाद और बाथरूम का उपयोग करने के बाद हाथों को अच्छी तरह साबुन से धोएं। अगर  आपके घर में कोई छोटा बच्चा है तब तो । यह और भी जरूरी हो जाता है। उसे हाथ लगाने से पहले अपने हाथ अच्छे से जरूर धोएं।

 

घर में सफाई पर खास ध्यान दें । विशेषकर रसोई  पर। पानी को कहीं भी इकट्ठा न होने दें। सिंक, वॉश बेसिन आदि जैसी जगहों पर नियमित रूप से सफाई करें।  फिनाइल, फ्लोर क्लीनर आदि का उपयोग करती रहें।
खाने की किसी भी वस्तु को खुला न छोड़ें। कच्चे और पके हुए खाने को अलग रखें। खाना पकाने तथा खाने के लिए उपयोग में आने वाले बर्तनों, ओवन आदि को भी साफ रखें।

कभी भी गीले बर्तनों को रैक में नहीं रखें, न ही बिना सूखे डिब्बों आदि के ढक्कन लगाकर रखें।

ताजी सब्जियों-फलों का प्रयोग करें। उपयोग में आने वाले मसाले, अनाजों तथा अन्य सामग्री का भंडारण भी सही तरीके से करें तथा एक्सपायरी डेट वाली वस्तुओं पर तारीख देखने का ध्यान रखें।

बहुत ज्यादा तेल, मसालों से बने, गरिष्ठ भोजन का उपयोग न करें। खाने को सही पकाएं और ज्यादा पकाकर सब्जियों आदि के पौष्टिक तत्व नष्ट न करें।खाने में सलाद, दही, दूध, दलिया, हरी सब्जियों, साबुत दाल-अनाज आदि का प्रयोग अवश्य करें। साथ ही ओवन का प्रयोग करते समय तापमान का खास ध्यान रखें। भोज्य पदार्थों को हमेशा ढंककर रखें और ताजा भोजन खाएं।

खाने में सलाद, दही, दूध, दलिया, हरी सब्जियों, साबुत दाल-अनाज आदि का प्रयोग अवश्य करें। कोशिश करें कि आपकी प्लेट में ‘वैरायटी ऑफ फूड’ शामिल हो। खाना पकाने तथा पीने के लिए साफ पानी का उपयोग करें। सब्जियों तथा फलों को अच्छी तरह धोकर प्रयोग में लाएं।

खाना पकाने के लिए अनसैचुरेटेड वेजिटेबल ऑइल (जैसे सोयाबीन, सनफ्लॉवर, मक्का या ऑलिव ऑइल) के प्रयोग को प्राथमिकता दें।

खाने में शकर तथा नमक दोनों की मात्रा का प्रयोग कम से कम करें।
खाने में सलाद, दही, दूध, दलिया, हरी सब्जियों, साबुत दाल-अनाज आदि का प्रयोग अवश्य करें।
जंकफूड, सॉफ्ट ड्रिंक तथा आर्टिफिशियल शकर से बने ज्यूस आदि का उपयोग न करें। कोशिश करें कि रात का खाना आठ बजे तक हो और यह भोजन हल्का-फुल्का हो।
अपने विश्राम करने या सोने के कमरे को साफ-सुथरा, हवादार और खुला-खुला रखें। चादरें, तकियों के गिलाफ तथा पर्दों को बदलती रहें गद्दों को भी समय-समय पर धूप दिखाकर झटकारें।

मेडिटेशन, योगा या ध्यान का प्रयोग एकाग्रता बढ़ाने तथा तनाव से दूर रहने के लिए करें।

खाने में सलाद, दही, दूध, दलिया, हरी सब्जियों, साबुत दाल-अनाज आदि का प्रयोग अवश्य करें।

कोई भी एक व्यायाम रोज जरूर करें। इसके लिए रोजाना कम से कम आधा घंटा दें और व्यायाम के तरीके बदलते रहें, जैसे कभी एयरोबिक्स करें तो कभी सिर्फ तेज चलें।
45 की उम्र के बाद अपना रूटीन चेकअप करवाते रहें  प्रकृति के करीब रहने का समय जरूर निकालें। बच्चों के साथ खेलें, अपने पालतू जानवर के साथ दौड़ें और परिवार के साथ हल्के-फुल्के मनोरंजन का भी समय निकालें। खाने में सलाद, दही, दूध, दलिया, हरी सब्जियों, साबुत दाल-अनाज आदि का प्रयोग अवश्य करें।

EAT HEALTHY BE HEALTHY. 

error: Content is protected !!