भूतेश्वर मंदिर, जींद की पौराणिक कथा

भूतेश्वर मंदिर,जींद की पौराणिक कथा जिसके कारण इसका नाम रानी तालाब भी है?

भूतेश्वर मंदिर के पीछे पौराणिक कथा यह है कि महाराज रघुबीर सिंह ने अपनी रानी के स्नान करने के लिए भूतेश्वर मंदिर का तालाब बनवाया था। इस तालाब में एक सुरंग का निर्माण भी राजा ने करवा था जो इस तालाब और महल को जोड़ती है। इस सुरंग को बनवाने का मुख्य उद्देस्य था कि रानी स्नान करने के पश्चात लोगों की नजरों में न आए और सीधा महल में प्रवेश कर जाए। इस सुरंग को आज भी देखा जा सकता है। रानी हर रात सुरंग पार करने के पश्चात इस तालाब में स्नान करके वापिस महल में जाती थी इसीलिए भूतेश्वर मंदिर को “रानी तालाब” भी कहा जाता है।

bindassnews.com bm
भूतेश्वर मंदिर, जींद

यह रानी तालाब गोहाना रोड़ पर स्थित है। इसे प्राचीन शहर की जीवन रेखा के रूप में भी जाना जाता है। ऐसा भी कहा जाता है कि भूतेश्वर मंदिर जींद का इतिहास महाभारत काल जितना पुराना है। श्रावण माह में महाशिवरात्रि और फाल्गुन माह में महाशिवरात्रि को यहां पर मेले का आयोजन किया जाता है। यहां पूर्णिमा पर भंडारे का आयोजन भी किया जाता है।

भूतेश्वर मंदिर एक बहूत ही प्रमुख हिंदू मंदिर है। यह हिन्दू मंदिर हरियाणा के जींद शहर में स्थित है। यह मंदिर पुर्णतः भगवान शिव को समर्पित है। इस मंदिर के भगवान शिव को भूतनाथ कहा जाता है, इसीलिए इसका नाम भूतेश्वर मंदिर है। भूतेश्वर मंदिर पूर्ण रूप से सफ़ेद रंग का है। इस मंदिर का पुनः निर्माण 2018 में किया गया था। यह मंदिर आम लोगों में “रानी तालाब” के नाम से ही प्रसिद्ध है। भूतेश्वर मंदिर जींद शहर का सबसे मनोरम मंदिर है जो एक पर्यटन स्थल के रूप में भी विख्यात है। यहाँ पर पर्यटक इसके मनोरम नज़ारे के साथ-साथ तालाब में नौका चलाने का भी आनंद लेते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *