ईरान ने अमेरिकी आतंकी संगठन के प्रमुख को गिरफ्तार किया, वह 2008 में हुए बम विस्फोट के लिए जिम्मेदार



ईरान ने कहा कि उन्होंने शनिवार को अमेरिका के एक आतंकी समूह के प्रमुख को गिरफ्तार कर लिया है। वह 2008 में शिराज शहर में हुए बम विस्फोट और अन्य हमलों का आरोपी था। स्टेट मीडिया ने खुफिया मंत्रालय के एक बयान का हवाला देते हुए कहा कि आतंकी जमशिद शर्मद ईरान में कई हमलों के लिए जिम्मेदार रहा है। अब वह ईरान के सुरक्षाबलों के कैद में है। हालांकि, यह विस्तार से नहीं बताया गया है कि सुरक्षाबलों ने उसे कैसे गिरफ्तार किया।

शर्मद आतंकी संगठन का प्रमुख है, जिसे टोंडर कहा जाता है। बयान के अनुसार, उसने 12 अप्रैल 2008 को शिराज में एक मस्जिद में बम विस्फोट किया था, जिसमें 14 लोग मारे गए थे और 215 घायल हो गए थे। ईरान ने 2009 में बम विस्फोट के दोषी तीन लोगों को फांसी पर लटका दिया था।

ईरान के एक अफसर को मारने का आदेश मिला था

बयान में कहा गया है कि उन्हें अमेरिका द्वारा समर्थित सीआईए एजेंट से ईरान के एक बड़े अफसर को मारे जाने का आदेश मिला था। उनकी पहचान 21 साल के मोहसिन असलमियन, 20 साल के अली असगर पश्तार और 32 साल के रूजबेह याहजादेह के रूप में हुई है। तेहरान के कोर्ट ने तीनों को ‘मुहारेब’ (भगवान का दुश्मन) और ‘पृथ्वी पर भ्रष्टाचार’ होने का दोषी पाया था।

ईरान ने 2010 में दो अन्य दोषियों को फांसी दे दी। उन्होंने अधिकारियों की हत्या करने की योजना की बात कबूल की थी। शनिवार को जारी बयान में कहा गया है कि आतंकी संगठन ने कई अन्य बड़े ऑपरेशन किए थे जो विफल रहे।

आतंकी संगठन कई हमले करने वाला था

बयान में कहा गया है कि संगठन ने शिराज में एक बांध को उड़ाने, तेहरान पुस्तक मेले में साइनाइड बम का इस्तेमाल करने और इस्लामिक गणतंत्र के संस्थापक दिवंगत अयातुल्ला रूहुल्लाह खुमैनी के मकबरे को विस्फोटक से उड़ाने की योजना बनाई थी।

यह स्पष्ट नहीं है कि ईरान ने अमेरिका स्थित शर्मद को कैसे गिरफ्तार किया। ईरान के खुफिया मंत्रालय ने पिछले साल अक्टूबर में ऐसे ही एक व्यक्ति रूहुल्लाह जैम की गिरफ्तारी की घोषणा की थी। पिछले महीने ही उसे मौत की सजा सुनाई गई।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


जमशिद शर्मद आतंकी संगठन का प्रमुख है, जिसे टोंडर कहा जाता है। (फाइल फोटो)

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2CZLkP7

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *